साप्ताहिक राशिफल : 29 अक्टूबर दिन शनिवार से 4 नवंबर दिन रविवार तक

0 0
Read Time:19 Minute, 39 Second

आचार्य पंडित शरद चंद्र मिश्र

अध्यक्ष – रीलीजीयस स्कॉलर्स वेलफेयर सोसायटी

सप्ताह के प्रथम दिन की ग्रह स्थिति : सूर्य, मंगल और बुध तुला राशि पर, चंद्रमा और बृहस्पति मेष राशि पर, शुक्र सिंह राशि पर,शनि कुंभ राशि पर, राहु मीन राशि और केतु कन्या राशि पर संचरण कर रहे हैं –

मेष राशि

29 अक्टूबर को पुराने रोगों से निजात मिलेगा। समस्याएं सुलझेंगी। लोगों से मेल-मिलाप का दायरा बढ़ेगा। व्यापारिक कार्यों में गति का योग बना रहेगा। 30 और 31 अक्टूबर को परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी। घर में किसी मेहमान का आगमन होगा।कहीं से शुभ समाचार प्राप्त होगा। प्रत्येक कार्य को सुनियोजित ढंग से निपटाएंगे। मिश्रित समय रहेगा। आय और व्यय का संतुलन बना रहेगा। पहली और दूसरी और तीसरी नवंबर को पराक्रम में वृद्धि होगी।आप ऊर्जा से परिपूर्ण रहेंगे। लोगों का साथ और सहयोग मिलेगा। भाई बन्धुओं से रिश्ते में प्रगाढ़ता का योग है।4 नवंबर को समय विपरीत फलदाई है। बनते कार्यों में अवरोध आएगा।किसी बात को लेकर चिंतित हो सकते हैं।चोट चपेट का भी योग है। वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं नहीं तो दुर्घटना घट सकती है। सकारात्मक बुद्धि धारण करें। इससे आपको फायदा होगा।

वृषभ राशि

29 और 30 अक्टूबर को समय विपरीत रहेगा। स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। आत्मविश्वास डवां डोल हो जाएगा। अदालती पक्ष को मजबूत बनाने संबंधी चिंताएं बढ़ेगी। स्वास्थ्य में छोटी-मोटी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। कार्य की अधिकता रहेगी। 31 अक्टूबर को समय में सुधार आएगा समय उन्नति व्रत रहेगा। व्यापारिक कार्यों को आगे बढ़ाएंगे। पहले से तीसरी नवंबर के मध्य सारे कार्य गति पकड़ लेंगे। आपकी बातचीत करने के तरीके से लोग प्रभावित हो जाएंगे। व्यावसायिक गतिविधियां आगे बढ़ेगी। घर में नया सामान की खरीदारी हो सकती है। इस समय आपका बैंक बैलेंस बढेगा। कोई जोखिम भरा सौदा भी कर सकते हैं। सफलता की प्राप्ति होगी। युवा वर्ग काफी उत्साहित रहेगा ।अपने काम को बहुत ही शालीनता से पूरा करेंगे। शनि का स्वयं की राशि से दशम भाव का परिभ्रमण नौकरी व कार्यों में उन्नति देगा। 4 नवंबर को बीमा, शेयर्स, निवेश जैसे आर्थिक गतिविधियों में व्यस्त रहेंगे। कार्य क्षमता में वृद्धि होगी। कामकाज को गंभीरता से लेंगे और मुनाफा कमाएंगे। जीवनसाथी व मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा। बुजुर्गों का आशीर्वाद भी प्राप्त करेंगे।

मिथुन राशि

29 अक्टूबर को कहीं से शुभ समाचार की प्राप्ति होगा। परिश्रम व उद्यम आपको सफलता के स्तर तक ले जाएगा। क्रियात्मक कार्यों में सफलता मिलेगी। धन और प्रतिष्ठा दोनों की प्राप्ति होगी। लोगों से मेलजोल बढ़ाएंगे तथा विवाह आदि शुभ और मांगलिक कार्यों की तैयारी में लगे रहेंगे। 31 अक्टूबर को चिंता की स्थिति मिल सकती है। पैसा आने से पहले जाने का रास्ता तैयार रहेगा। व्यापार में वृद्धि होगी। पहली नवंबर को आपकी राशि से बारहवां चंद्रमा गतिशील है, अतः कार्यों की गति धीमी रहेगी। परेशानी का भाव बना रहेगा। कोई अप्रिय घटना घट सकती है। दो और तीन नवंबर को व्यापार को बढ़ाने के लिए नई तकनीक अपनाएंगे। दिनचर्या को व्यवस्थित करेंगे। माता-पिता वह पितरों का आशीर्वाद आपको प्राप्त होगा। अकस्मात रुपया प्राप्त हो जाएगा। परीक्षाओं में परिणाम आशा के रूप परिणाम आएंगे। 4 नवंबर को मिश्रित समय है। पारिवारिक रूप से चल रहे गतिरोध समाप्त होंगे। आप प्रसन्नता से परिपूर्ण रहेंगे। दांपत्य जीवन में मधुरता का भाव बना रहेगा। खर्चे में कटौती करेंगे और संग्रह करने का पूर्ण प्रयास करेंगे।

कर्क राशि

29 और 30 अक्टूबर को रचनात्मकता से भरा समय रहेगा। लोगों से अच्छे ढंग से डील करेंगे। बैठक, सेमिनार, आदि में सम्मिलित होने का समय है। मुख्य योजनाओं को अच्छे ढ़ंग से पूरा करेंगे। 31 अक्टूबर को सर्व लाभकारी समय रहेगा। काम की ज्यादती बनी रहेगी। फाइनेंस का आपका पूरा-पूरा ध्यान रहेगा। आप अहंकार से दूर रहेंगे। आपमें सरलता का भाव बना रहेगा। पहली नवंबर को समय अनुकूल है। भविष्य की योजनाओं पर आपका ध्यान केंद्रित रहेगा। काम को एक नए स्तर तक पहुंचाएंगे ।आपके भीतर ऊर्जा और प्रेरणा का संचार होगा। घर में वातावरण खुशहाली रहेगी। बाहरी लोगों के साथ तालमेल अच्छा बैठाएंगे। कुछ गुप्त बैठकर और लेनदेन की संभावना है। आपका पूरा-पूरा लक्ष्य अपने काम पर बना रहेगा। दो और तीन नवंबर को समय की चाल विपरीत होगी। वाहन द्वारा कोई दुर्घटना घटित हो सकती है। यह समय चुप रहने का और सहन करने का है। धैर्य बनाए रहे। सब सामान्य हो जाएगा। 4 नवंबर को स्वयं की राशि पर चंद्रमा सफलता देगा।जिस कार्य में हाथ में डालेंगे उसमें सफलता प्राप्त होगा। जीवन की हर परिस्थितियों के लिए स्वयं को तैयार रखेंगे।

कन्या राशि

29 और 30 अक्टूबर को कष्ट सूचक समय रहेगा। जोखिम भरे काम करने से बचें इस समय चोट की आशंका है, इसलिए वाहन मशीन एवं अन्य सामान का सावधानी से इस्तेमाल करें। 31 को आप पूरी तरह से सार्थकता एवं लगन के साथ काम करेंगे। स्वंय में सुधार लाने का प्रयास करेंगे। संबंधों को मजबूती देने के लिए अवसरों की तलाश करेंगे। पहली नवंबर से 3 नवंबर के मध्य का समय सम्मान वर्धक है। आप प्रभावशाली तरीके से आगे बढ़ेंगे। अपनी ठोस छवि निखारेंगे। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। घर का नवीनीकरण एवं पूरा विकास हो सकता है। संपत्ति की खरीदारी कर सकते हैं। चार नवंबर को समय अच्छा रहेगा। आप आप से बाहर होकर अनावश्यक कार्य को अंजाम दे सकते हैं। आपका ध्यान फंड, फाइनेंस और फूड पर रहेगा। आप अपना समय और ध्यान दूसरों पर लगाएंगे। मेहनत भी जम कर करेंगे और उसका सुखद परिणाम भी आपको प्राप्त होगा। आमोद प्रमोद में समय व्यतीत हो सकता है। बुद्धि में सकारात्मकता बनी रहेगी। भविष्य के प्रति आशान्वित बने रहेंगे।

तुला राशि

29 और 30 अक्टूबर को घर परिवार में सजावट आदि करेंगे। किसी शादी विवाह की तैयारी में बाजार जा सकते हैं या किसी धार्मिक कार्यक्रम में सम्मिलित हो सकते हैं। अपने कामों से सफलता प्राप्त करेंगे। स्वास्थ्य का पाया उत्तम रहेगा ।आंतरिक विकास करेंगे। सहनशक्ति का भाव बना रहेगा। 31 अक्टूबर को समय ठीक नहीं है। किसी से विवाद हो सकता है स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। मन में नकारात्मक विचार आ सकता है। पहली से 3 नवंबर तक समय उत्तम है। यह शानदार फलों को देने वाला। रहेगा। व्यावसायिक जीवन व्यस्त और थकने वाला होगा। नई प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं। अपनी सूझ-बूझ से आप लक्ष्मी प्राप्त करेंगे। लक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहेगी। 4 नवंबर को समय पूर्ण रूप से सम्मान सूचक है। किए गए कार्यों का अच्छा प्रतिफल प्राप्त होगा। स्वास्थ्य उत्तम रहने से आप हर कार्य में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे। जोखिम भरे कार्य भी कर सकते हैं। परंतु थोड़ी सावधानी रखने की आवश्यकता है। दूसरों पर ज्यादा विश्वास करना घातक हो सकता है। अपनी गोपनीयता को किसी भी व्यक्ति के सामने जाहिर न करें। तभी सफलता प्राप्त होगी।

सिंह राशि

29 और 30 अक्टूबर का समय मिला-जुला फलदायक है। कभी नरम तो कभी गरम रहेगा। खर्चे भारी होंगे, पर काम हो जाएगा। यात्रा करेंगे। गुप्त सौदे भी होंगे। ईश्वर का आशीर्वाद आपको प्राप्त होगा। कार्य की साझेदारी के लिए महत्वपूर्ण समय है। विभिन्न स्रोतों से आए होगी ।घर और कार्यस्थल में परिवर्तन संभव है। एक 31 अक्टूबर को थोड़ा सा उदासीन रहेंगे परन्तु परमात्मा का पूर्ण आशीर्वाद आपको प्राप्त होगा। चारों तरफ से लाभ प्राप्त होगा। पहली से 3 नवंबर के मध्य समय रहेगा। साधारण लाभ और विजय की स्थिति में रहेगा। पैसा और आपका जीवन साथी का सहयोग दोनों आपके साथ होंगे। नौकरी में आप अपना उत्तम योगदान देंगे। अच्छा प्रदर्शन करेंगे। मित्रों का साथ हितकारी रहेगा। पूंजी निवेश महत्वपूर्ण होंगे। वित्तीय स्थितियों आपके पक्ष में होगी।4 नवंबर का समय प्रतिकूल रहेगा। बनते कार्यों में विघ्न मिल सकता है। किसी से विवाद की स्थिति बन सकती है। मन में चिंता और तनाव मिल सकता है। सकारात्मक बुद्धि धारण करें। इससे फायदा होगा।

धनु राशि

29 और 30 अक्टूबर को समय मिश्रित फलदाई है। तमाम उलझनों के बाद भी समय अच्छा ही रहेगा ।आप पैसा कमाएंगे और खर्च भी करेंगे। विद्यार्थी वर्ग अपनी पढ़ाई पर पूरा-पूरा ध्यान दे पाएंगे। परीक्षा, टेस्ट आदि में उनका प्रतिशत बहुत उत्तम रहेगा। 31 अक्टूबर को आप लाभ की प्राप्ति करेंगे। उपलब्धियां प्राप्त करने का उत्तम समय है। पहली से 3 नवंबर के मध्य आप विशाल हृदय के स्वामी होंगे। अपने को विशेष शक्तिशाली महसूस करेंगे। वैवाहिक जीवन के सभी उत्तरदायित्व को अच्छे ढंग से निभाएंगे। आपकी सौम्यता और अत्यधिक मोहकता आपके अगल-बगल लोगों को आकर्षित करेगी। लोग आपके बारे में कुछ भी सोचेंगे परंतु आप अपने सिद्धांत पर अड़े रहेंगे। पराक्रम में वृद्धि होगी या आपको अहंकारी भी बन सकता है। 4 नवंबर को समय रमणीय स्थल पर जाने के लिए उत्तम रहेगा। परंतु वहां भी घरेलू चिंता महसूस करेंगे। मन में शांति नहीं रहेगी। बच्चों के साथ बहुत समय व्यवहार करेंगे। बच्चे आपके व्यवहार का लाभ उठाएंगे। उन्हें घूमने के लिए मनमाना मत छोड़िए। बच्चों के चरित्र में सुधार आएगा। विद्यार्थी वर्ग के लिए उत्तम समय है। उन्हें प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त होगी। आर्थिक पक्ष भी मजबूत ही होगा। खुशियां हासिल होगी। मन में शांति और सुकून बना रहेगा।

वृश्चिक राशि

29 और 30 अक्टूबर को आपको खानपान मैं रूचि बनी रहेगी। जीवन के समस्त अनुभव तथा ऊर्जा का उपयोग कुछ इस प्रकार आचरण करेंगे कि दूसरे का जीवन सुधर जाए। आप में दयालुता का भाव विद्यमान रहेगा। धार्मिक कार्यों में हिस्सा लेंगे। 31 अक्टूबर को ससुराल पक्ष से आय की प्राप्ति होगी। पहली दूसरी और तीसरी नवंबर का समय नाजुक समय है। आप दौड़-धूप ज्यादा करेंगे परन्तु लक्ष्य आपकी आंखों से ओझल हो जाएगा। 12 वें भाव में चार-चार ग्रहों की युति कष्टदायक रहेगी। विद्यार्थियों के ऊपर अतिरिक्त दबाव पड़ेगा। युवा वर्ग परेशान रहेगा। बनते काम रुक जाएंगे ।किसी से टकराहट हो सकती है। मन में उलझन और तनाव बना रहेगा। 4 नवंबर को समय में सुधार आएगा। आपको अपने परिश्रम का प्रतिफल अच्छा मिलेगा। व्यापार में नई योजनाओं पर आप काम करेंगे। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे जातकों को सफलता की प्राप्त होगी। प्रेम में समर्पण की भावना रहेगी। संतान आपकी आज्ञा में रहेगी। मौसम के अनुसार खानपान पर ध्यान देंगे।मन में हर्ष का अनुभव करेंगे।

मकर राशि

29 और 30 अक्टूबर को समय सही नहीं है। आपको कहीं चोट चपेट लग सकती है। थोड़े सुस्त और आलसी हो सकते हैं। किसी काम को करने का मन नहीं लगेगा। खरीदारी से सावधान रहे। 31 अक्टूबर को ज्ञानवर्धक समय है। योग, व्यायाम, टहलने जैसी गतिविधियों में लगे रह सकते हैं। पहली से 3 नवंबर का दिन शुभ दिवस रहेगा। घरेलू कार्य आसानी से पूरे कर लेंगे। बाहरी यात्रा या किसी समारोह में शिरकत कर सकते हैं। मानसिक रूप से परिवर्तन आएगा। उच्च शिक्षा के लिए कहीं बाहर जा सकते हैं। अपने करियर को नई दिशा देने की प्लानिंग करेंगे। आयात निर्यात के कार्य में लाभ होगा। 4 नवंबर का समय शांतिपूर्ण रहेगा। परिश्रम का फल पूरा-पूरा मिलेगा। विद्यार्थियों के लिए उत्तम समय है। संबंधित मामले साझेदारी के कार्यों में सफलता मिलेगा। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। घर में सुख शांति बनी रहेगी। पड़ोसियों का सहयोग काम आएगा।

कुंभ राशि

29 अक्टूबर का समय सरकारी कार्यों के लिए अच्छा है। आपको कहीं से कोई उपहार मिल सकता है। घर परिवार के मामलों में अच्छे फैसले लेंगे। 30 और 31 अक्टूबर को अधिकारियों से बोलचाल व कहासुनी हो सकती है। बनते कार्य अटक सकते हैं। समय ठीक नहीं है। किसी दूसरे के मामले में हस्तक्षेप न करे नहीं तो नुकसान होगा ।पहली नवंबर को किसी घनिष्ठ व्यक्ति को याद करके आप भावुक हो जाएंगे। आर्थिक बजट व आर्थिक स्थिति काफी डवांडोल रहेगी। पूंजी निवेश संबंधी निर्णय में सावधानी बरते। दो-तीन नवंबर को अनुसंधान, शोध, अध्ययन आदि के लिए अधिक से अधिक समय देंगे। काम और व्यापार की अपेक्षा परिवार आपकी पहली प्राथमिकता होगी। जीवनसाथी के संबंधों में मधुरता आएगी। पूर्ण एकाग्रचित होकर लक्ष्य की ओर आगे बढ़ेंगे और सफलता भी पाएंगे। चार नवंबर को व्यवसायिक गतिविधियों व कार्यकलाप तेज होंगे। पूरे जोश से अपने काम में लग जाएंगे। कुछ महत्व के काम भी हाथ में लेंगे। भविष्य के प्रति आशान्वित रहेंगे। पारिवारिक माहौल अच्छा बना रहेगा।

मीन राशि

29 और 30 अक्टूबर को लंबित कार्यों में गति प्राप्त होगा। आपकी क्रियाकलापों में गति आएगी। काम की रफ्तार धीमी बनी रहेगी। 31 को आप लाभ के लिए खतरा उठाने के लिए तैयार हो जाएंगे। संतान की क्रियाकलाप आपकी प्राथमिकता में रहेगी। घर परिवार पर ध्यान देंगे। पहली नवंबर को लाभ के मार्ग प्रशस्त होंगे।समय का सहयोग मिलेगा। कहीं बाहर जाने का अवसर प्राप्त होगा। आप पूर्ण रुप से सक्षम और दुरुस्त रहेंगे। दो व तीन नवंबर को कहीं से अशुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। आपके विरोधी, शत्रु वह षडयंत्र में सक्रिय रह सकते हैं। परीक्षा का परिणाम अनुकूल नहीं आएगा। आपकी कोई गोपनीय बात उजागर हो सकती है‌ 4 नवंबर को प्रेम संबंधों में सफलता मिलेगा‌। दांपत्य जीवन में मधुरता का योग है। परिवार व बच्चे आपकी प्राथमिकता में रहेंगे। विद्यार्थी वर्ग का फोकस अपने अध्ययन पर बना रहेगा। कुछ नया सीख लेने की उत्सुकता रहेगी। आप अपने को घर गृहस्थी को प्राथमिकता देंगे। मन में हर कर खुशियां बनी रहेगी। समय आमोद प्रमोद में व्यतीत हो सकता है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Blog ज्योतिष

साप्ताहिक राशिफल : 16 जून दिन रविवार से 22 जून दिन शनिवार तक

आचार्य पंडित शरद चंद्र मिश्र अध्यक्ष – रीलीजीयस स्कॉलर्स वेलफेयर सोसायटी सप्ताह के प्रथम दिन की ग्रह स्थिति – सूर्य, बुध और शुक्र मिथुन राशि पर, चंद्रमा कन्या राशि पर, मंगल मेष राशि पर, बृहस्पति वृषभ राशि पर, शनि कुंभ राशि पर, राह मीन राशि पर तथा केतु कन्या राशि पर संचरण कर रहे हैं […]

Read More
Blog ज्योतिष

साप्ताहिक राशिफल : 9 जून दिन रविवार से 15 जून दिन शनिवार तक

आचार्य पंडित शरद चंद्र मिश्र अध्यक्ष – रीलीजीयस स्कॉलर्स वेलफेयर सोसायटी सप्ताह के प्रथम दिन की ग्रह स्थिति – सूर्य, बुध और गुरू वृषभ राशि पर, चंद्रमा मिथुन राशि पर, मंगल मेष राशि पर, शुक्र मिथुन राशि पर, शनि कुंभ राशि पर, राहु मीन राशि और केतु कन्या राशि पर संचरण कर रहे हैं – […]

Read More
Blog States uttar pardesh

अविलंब बंद हो अयोध्यावासिसों पर तिरस्कारपूर्ण कटाक्ष

अनिल त्रिपाठी (लेखक दूरदर्शन के अंतर्राष्ट्रीय कमेंट्रेटर, वरिष्ठ पत्रकार) लोकसभा चुनाव में जनता ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को पूर्ण बहुमत देते हुए देश की बागडोर एक बार पुनः नरेंद्र मोदी के हाथ सौंपने का स्पष्ट जनादेश दिया है। किंतु संख्याबल देश की अपेक्षा के अनुरूप नहीं रहा। इसी वजह से विजयी होने के बावजूद राष्ट्रवादी […]

Read More
error: Content is protected !!